– [ प्रभास @prabhas_shakya ]

भाग्य खुलेंगे हर उस मानव के
इतिहास का साक्षी जो बन रहा है
अयोध्या में कण कण देखो सज रहा है
लौट रहे हैं राम जी, मंदिर वहीं बन रहा है।।

किस किस ने नहीं रोका,
पहले बाबर मीर बाकी – फिर मुलायम की खाकी
मगध में लालू का दुस्साहस
रोकी राम जी की झांकी
गुस्सा भक्तों का फूटा – जब संकोच था छूटा
लिया हथौड़ा दोनों हाथों में
जमीन को समतल होने तक कूटा!

हर दिन लड़ लड़ के, सब सह सह के
सब साक्ष्य दिए न्यायालय में
कभी देखा है कहीं ये होते हुए
किसी देश किसी देवालय में
प्रभु के होने पे सवाल खड़े किए
जय श्री राम पे बवाल बड़े किए
आज ये नारा घरघर में, गर्व से देखो बज रहा है
लौट रहे हैं राम जी, मंदिर वहीं बन रहा है।।

हमें जरूरत नहीं किसी मंदिर की
कोई अस्पताल बने या स्कूल बने
ये बेहूदा बातें कर कर के
जाने कितने मूरख कूल बने
नमन उन सभी लोगों को
जो धर्मयुद्ध में शामिल थे
नर्क मिले उन सब को जो
कारसेवकों के कातिल थे
अब खत्म हुआ वनवास,
अंततः शुभ घड़ी देखो आयी है
अब विराजेंगे अपने धाम
हमारे ईष्ट देव श्री राम
हो रहा स्वागत का शुभ काम
लगाके नारा जय श्री राम
अयोध्या में कण कण देखो सज रहा है
लौट रहे हैं राम जी, मंदिर वहीं बन रहा है।।

जय श्री राम !

DISCLAIMER: The author is solely responsible for the views expressed in this article. The author carries the responsibility for citing and/or licensing of images utilized within the text.