“गांधीवादी” गुहा का असत्य के साथ प्रयोग!

कई अवसरों पर संघ स्पष्ट कर चुका है कि इस भूखंड में जन्मा प्रत्येक व्यक्ति- जिनका विचार, मजहब और पूजा-पद्धति अलग हो सकता है, वह सभी भारत-माता की संतान है। पिछले 73 वर्षों से संघ का जनाधार निरंतर बढ़ रहा है। इस कालखंड में कितने मुस्लिम नागरिकों को खंडित भारत से निकाला गया?