धर्मा प्रोडक्शन की डेवलपमेंट एक्जीक्यूटिव श्रीमी वर्मा को हिंदुओं ने चखाया मज़ा, अब ‘ब्रह्मास्त्र’ की बारी।

  धर्मा प्रोडक्शंस की फिल्म ब्रह्मास्त्र 9 सितंबर, 2022 को रिलीज होने वाली है, परंतु फिल्म के ऊपर असफलता का साया मंडरा रहा है।...

धर्मांतरण विरोधी कानून देशभर में लागू कर उस पर कठोर कार्यान्वयन करें ! – श्री. प्रबल प्रतापसिंह जुदेव, प्रदेशमंत्री, भाजपा, छत्तीसगढ

 हिन्दू जनजागृति समिति आयोजित विशेष संवाद : ‘धर्मांतरण ही राष्ट्रांतरण !’ ईसाई मिशनरियां मानवता के लिए विद्यालय, चिकित्सालय अवश्य खोलें; परंतु सुविधाओं के नामपर...

बंगाल के हिन्दुओं जैसी स्थिति अन्य राज्यों में न हो, इसके लिए हिन्दू सतर्क रहें ! – श्री. प्रकाश दास, अध्यक्ष, ‘पश्चिम बंगेर जन्य’

हिन्दू जनजागृति समिति द्वारा आयोजित विशेष संवाद : ‘पश्चिम बंगाल के हिन्दुओं की वर्तमान स्थिति !’ वर्ष 1946 में भारत की स्वतंत्रता के पूर्व...

हिंदुओं विभाजन के समय का सत्य इतिहास जानकर आत्मपरीक्षण करें ! – अधिवक्ता सतीश देशपांडे

हिन्दू जनजागृति समिति द्वारा आयोजित विशेष संवाद : ‘भारत के विभाजन का काला इतिहास !’          भारत विभाजन के समय हिन्दू...

राष्ट्रध्वज के समान बनाए हुए ‘मास्क’, ‘टी-शर्ट’ आदि वस्तुएं बेचनेवाले ई-कॉमर्स वेबसाईटों पर कानूनी कार्यवाही करें ! – सुराज्य अभियान

      ‘राष्ट्रध्वज’ करोडों भारतियों की अस्मिता का विषय है; कुछ अपवाद छोडकर उसका अन्य किसी भी कार्य के लिए उपयोग करना कानूनी रूप...

स्वतंत्रता का अमृत महोत्सव व सुराज्य निर्माण का संकल्प !

प्रस्तावना : भारत की स्वतंत्रता का यह अमृत महोत्सव वर्ष है । ज्ञात- अज्ञात अनेक क्रांतिकारियों की क्रांति के कारण जुल्मी अंग्रेजों से भारत मुक्त...

चैतन्य का स्रोत “संस्कृत”

संस्कृत सप्ताह पर विशेष प्रस्तावना :  प्रत्येक वर्ष श्रावण पूर्णिमा को ‘संस्कृत दिन ‘मनाया जाता है। संस्कृत ईश्वर द्वारा निर्माण की गई भाषा है। संस्कृत सभी भाषाओं...

गले काटनेवाले जिहादियों से स्वयं को और परिवार को बचाना हो, तो हिन्दुओं को आत्मरक्षा के लिए तैयार रहना पडेगा ! – टी. राजासिंह, विधायक, तेलंगाना

‘हिन्दू अपने ही देश में असुरक्षित ?’ इस विषय पर ऑनलाइन विशेष संवाद का आयोजन ! नुपुर शर्मा का समर्थन करने के कारण राजस्थान,...

सिर्फ चड्ढा ही अकेला लाल नहीं होगा :सनातन विरोधी बॉलीवुड को रसातल में पहुँचाएगी जनता

एक के बाद एक लगातार , बड़े बैनर और बड़े नामों की पिक्चरों का हाल कबाड़ी बाज़ार में रखे रद्दी के ढेर जैसा होता...

‘सेक्युलर’ शब्द की आड में शिक्षा का इस्लामीकरण प्रारंभ ! – डॉ. नील माधव दास

‘भारत मे शिक्षा जिहाद ?’ इस विषय पर ‘ऑनलाइन’ विशेष संवाद प्राचीन भारत में गुरुकुल शिक्षा प्रणाली थी । उसे नष्ट करने के लिए...