रुके रुके से कदम

कभी आपने सोचा है कि तमाम मुद्दों पर ताकतवर दिखती हुई सरकार अतिक्रमण हटाने के दौरान कोर्ट में आखिरकार हमेशा क्यों हार जाती है।...

घृणा का अस्थि विन्यास परंतु अस्थियां सिर्फ सनातन की

लेखक या लेखिका एक बेलगाम परिंदे जैसे होते हैं जो भावनाओं , विचारों और परिस्थितियों के आकाश में अपनी अपने ताकतवर डैनों से घटनाओं...

हंगामा है क्यों बरपा।

सीबीएसई ने इतिहास और राजनीति विज्ञान के किताबों से कुछ अध्याय कम कर दिये तो इस पर वामपंथी बुद्धिजीवियों की आंखें सजल हो उठीं,...

लिव इन संस्कार आउट

कभी सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि हिंदुत्व एक जीवन शैली है और यह एक संप्रदाय नहीं है। उसी न्याय व्यवस्था में एक उच्च...

असंतोष , हड़ताल और सुनियोजित अवज्ञा के रास्ते अपनी जड़े मजबूत करता वामपंथ।

साम्यवाद ने श्रमिकों के असंतोष को आधार बनाकर एक अनदेखे शत्रु की कल्पना की जिसे अधिनायक वादी व्यवस्था , पूंजीवादी व्यवस्था और सामंतशाही व्यवस्था...

स्वधर्मे निधनं श्रेयः।

हाल के दिनों में दो घटनाएँ बड़े मारके की रही कि आर्यन खान ड्रग्स लेकर भी अपने समाज से जुड़ा रहा, शाहरुख के समर्थक...

ई ना चोलबे बाबू मोशाय

बुद्धदेब बाबू ने पद्मभूषण पुरस्कार लौटा दिया। ये खबर माकपा के महासचिव येचुरी साहेब ने ट्वीट करके बताया। कम से कम जिसे मिला वही...