ओमकार

समष्टि में व्याप्त हूँ,व्यष्टि का आधार हूँ,गूंजता हूँ अनंतकाल से,मैं ओमकार हूँ! प्रणव में हूँ,अनहद नाद,सामवेद का उद्गीथ हूँ,गीता का एकाक्षर ब्रह्म अंतर्नाद! स्फुरित...

एक और सरकार द्वारा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को दबाने का प्रयास

महाराष्ट्र के गृह मंत्री श्री अनिल देशमुख ने रज़ा अकादमी की शिकायत पर केंद्रीय गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर मांग की है कि वह फ़िल्म "मुहम्मद: द मैसेंजर ऑफ गॉड" पर प्रतिबंध लगाए। ध्यान रहे कि रज़ा अकादमी के इतिहास हिंसक है। ख़ुद को सूफी मतावलंबी बताने वाले इन लोगों ने मुम्बई के आज़ाद मैदान में अमर जवान ज्योति को तहस नहस करके भारतीय सैनिक व पुलिसवालों के बलिदान का अपमान किया था।

असमंजस

बड़ी असमंजस में हूँ आजकि आख़िर सुनूँ तो किसकी सुनूँएक तरफ़ अम्बर के वृहद् विस्तार मेंपेड़ों के पार्श्व में अँटकाकृष्णपक्षी प्रतिपदा का चाँद हैदूसरी...

किसान

प्रश्न चिन्ह सा प्रतीत होता है वह ,ढलते सूरज संग ढल रहा कदाचित किसी का सम्मान है।क्षितिज धरा पे निराश, जीवित मगर ढाँचे सा,बैठा जीवन...