इसलिए हिन्दू धर्म सर्वश्रेष्ट्र धर्मो में एक है : गौरवशाली इतिहास की राह चले

मुझे लगता है कि विद्वान डॉ। भीमराव अंबेडकर को संस्कृत में पारंगत नहीं राहे होगे, इसीलिए वे मनु स्मृति के श्लोकों का वास्तविक अर्थ नहीं खोज पाए और इसे जलाने का फैसला किया।

लव जिहाद: कानपुर में टीचर इमरान अंसारी अपनी Students को करता है Msg, मामला उजागर होने से हड़कंप

देशभर में लगातार लव जिहाद के मसलों पर बवाल मचा हुआ है। बीते कई दिनों से उत्तर प्रदेश के कानपुर में लव जिहाद के...

हिन्दू बच्चों में दैनिक धार्मिक गतिविधियों का ज्ञान प्राप्त करने के प्रति इतनी उदासीनता क्यों?

अगली पीढ़ी को उसकी जिम्मेदारी संभालने की क्षमता से युक्त बनाने के लिए आपको पहले अपनी जिम्मेदारी उठानी होगी, आपको स्वयं भारतीय रीति-रिवाजों का, उनके पीछे जो वैज्ञानिक कारण हैं उनका ज्ञान एकत्रित करना होगा।

हिन्दू बच्चों में दैनिक धार्मिक गतिविधियों का ज्ञान प्राप्त करने के प्रति इतनी उदासीनता क्यों?

भारत पर विदेशी लिपि और भाषा का कब्जा।

हमारा देश भारत जहाँ कई तरह की भाषा है। हिन्दी, तमिल, मलयालम, तेलगु, संस्कृत, मैथिली इत्यादी जैसी सर्वगुण संपन्न भाषा के रहते हुए हम...

जब जर्मनी क्रिश्चन है, तो भारत हिन्दू क्यों नहीं?

मैं काफ़ी अर्से से भारत में स्थित हूँ, फिर भी कई बाते समझने में मुझे अभी भी कठिनाई महसूस होती है। उदाहरण के लिए,...

मिलिए सनातन धर्म सेवक 25 वर्षीय सुमित से..गांव-गांव करता है भगवदगीता-भोजन का वितरण

26 साल का नौजवान गले में भगवा डाल गाँव गाँव घूम कर अपनी राशि से भगवद गीता वितरण कर सनातन धर्म को बचाने का प्रयास कर रहा है

अति दुर्लभ ग्रंथ “राघवयादवीयम्”: सीधा पढ़ेंगे तो रामकथा, उल्टा पढ़ेंगे तो कृष्ण कथा

इस ग्रन्थ को ‘अनुलोम-विलोम काव्य’ भी कहा जाता है। इन श्लोकों को सीधे-सीधेपढ़ते जाएँ, तो रामकथा बनती है औरविपरीत (उल्टा) क्रम में पढ़ने पर कृष्णकथा। क्या यह अन्य किसी भाषा में संभव है? नहीं। यही तो संस्कृत की सुंदरता और परिपूर्णता है।

अद्भुत ज्योतिष घटना: 6 ग्रह स्वराशि..कीजिए जाप छूटेंगे पाप।

भारतीय ज्योतिष जीवन चक्र के आयामों को समझने का दैवीय माध्यम है। कालचक्र की इस यात्रा में समय-समय पर बदलाव आते हैं जिन्हें नियति...