स्वामी विवेकानंद के विचार आज के परिप्रेक्ष्य मे…

एक समूह 10, 11 और 12 सितंबर को संयुक्त राज्य अमेरिका के 40 से अधिक विश्वविद्यालयों में एक सम्मेलन का आयोजन कर रहा है...

अफ़ग़ानिस्तान में एक झटके में पत्थर युग वापिस

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान वापिस आ गये। सबके मन में इसके लिये बाइडन को ले कर आक्रोश है। 75,000 तालिबानी लड़ाकों ने 3 लाख से...

हम देखेंगे लाज़िम है कि हम भी देखेंगे जब अर्ज-ए-ख़ुदा के काबे से सब बुत उठवाए जाएँगे हम अहल-ए-सफ़ा मरदूद-ए-हरम मसनद पे बिठाए जाएँगे बस नाम रहेगा अल्लाह का जो ग़ायब भी है हाज़िर भी

ये उस नज़्म के हिस्से हैं जिसे कानपुर IIT के एक मुस्लिम छात्र ने CAA के विरोध में निकले मार्च में गाया। इस हिस्से...

आज शिक्षक दिवस है।

कितना अच्छा होता अगर हम किसी ऐसे शख्स के जन्मदिन पर ये दिवस मनाते जो राष्ट्रपति का पद त्याग कर एक बार फिर से...

साम्यवादियों द्वारा हजारों निर्मम हत्या करने पर भी देश में केवल चार आधुनिकतावादियों की ही हत्या हुई ऐसा दिखावा कर उसे विवादों में घसीटा जा रहा है ! – अधिवक्ता वीरेंद्र इचलकरंजीकर

‘गौरी लंकेश प्रकरण : सत्य और दिखावा’ विषय पर ऑनलाइन विशेष संवाद ! साम्यवादी विचारों के नक्सलवादियों ने भारत में अब तक 14 हजार नागरिकों, पुलिसकर्मियों, विधायक, मंत्री इत्यादि...

”परित्राणाय साधूनां विनाशाय च दुष्कृताम……….!”

”परित्राणाय साधूनां विनाशाय च दुष्कृताम……….!” सत्य, अहिंसा, करुणा, प्रेम आदि शाश्वत भाव हैं और किसी भी सभ्य समाज में इन मूल्यों को पालित-पोषित करने...

वेदिक संस्कृती और भगवद गीता : दुनिया को जोड़ने का भारतीय तरीका

हमने पिछले कुछ दशकों से सभी के जीवन और जीवन शैली में जबरदस्त बदलाव देखा है। स्वचालित मशीनों, वाहनों, कंप्यूटर और सूचना प्रौद्योगिकी आधारित...

बड़ी अस्मिता को राजनीति के केंद्र में स्थापित करने वाले जननेता- कल्याण सिंह

कल्याण सिंह का देहावसान राजनीति के एक युग का अंत व अवसान है। वे भारतीय राजनीति के शिखर-पुरुष के रूप में सदैव याद आएँगें।...